10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet

Save 62%

Price:
Rs. 499 Rs. 1,299

Tax included

Stock:
In stock

Description

 ➢ 10 Mukhi Rudraksha Bracelet has 10 natural partitions or cuts on its surface. It is believed that 10 Mukhi Rudraksha Bracelet is ruled by Lord Krishna. 10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet is also ruled by all nine planets.

➢ According to Hindu mythology, there are 10 avatars of Lord Krishna and 10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet have blessings of all the 10 avatars. It is also said that this rudraksha bracelet is blessed by Lord Yamraaj.

➢ 10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet helps in getting relief from asthma, arthritis, stomach, and eye diseases. It also helps in solving disputes by pushing away negativity, spirits and ghosts.

⇒ Main Advantages of 10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet :

  • Ruled by Lord Krishna
  • Blessed by Lord Yamraaj
  • Helps in disease curing
  • Pushes negativity
  • Solves disputes

⇒ Mantra to be Chanted for 10 Mukhi Indonesian Rudraksha Bracelet:

➢ Sit facing towards your pooja close your eyes and chant the mantra “AUM HREEM NAMAH (ॐह्रींनमः)” 108 times and then wear the Rudraksha bracelet.

 

Also, Explore Our Latest Collection of bracelet only in Ayaana Divine

 

 ➢ 10 मुखी रुद्राक्ष कंगन में इसकी सतह पर 10 प्राकृतिक विभाजन या कट होते हैं। माना जाता है कि 10 मुखी रुद्राक्ष कंगन भगवान कृष्ण द्वारा शासित है। यह भी सभी नौ ग्रहों द्वारा शासित है।

➢ हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान कृष्ण के 10 अवतार हैं और इन रुद्राक्ष कंगन में सभी 10 अवतारों का आशीर्वाद है। यह भी कहा जाता है कि यह रुद्राक्ष कंगन भगवान यमराज का आशीर्वाद है।

➢ यह ब्रेसलेट अस्थमा, गठिया, पेट और आंखों की बीमारियों से राहत दिलाने में मदद करता है। यह नकारात्मकता, आत्माओं और भूतों को दूर करके विवादों को सुलझाने में भी मदद करता है।

 मुख्य लाभ :

  • भगवान कृष्ण द्वारा शासित
  • भगवान यमराज द्वारा धन्य
  • बीमारी के इलाज में मदद करता है
  • नकारात्मकता को धक्का देता है
  • विवादों को सुलझाता है

  मंत्र जाप करने के लिए :

  • अपनी पूजा की ओर मुंह करके बैठें और अपनी आँखें बंद करें और मंत्र “N ऐं ह्रीं नम: (ॐह्रींनमः)” का 108 बार जाप करें और फिर रुद्राक्ष का कंगन पहनें।

 

Payment & Security

Airtel Money Amazon American Express Freecharge Google Pay Mastercard MobiKwik Ola Money PayPal Paytm PayZapp RuPay Visa

Your payment information is processed securely. We do not store credit card details nor have access to your credit card information.

You may also like

Recently viewed