11 Mukhi Nepali Rudraksha ( Only Prepaid Order)

Save 32%

Price:
Rs. 8,500 Rs. 12,500

Tax included

Stock:
In stock

Description

This Rudraksha represents Lord Hanuman. By wearing it one becomes like Shiva and later one is liberated from the cycle of birth and death.

The 11 Mukhi Rudraksha is blessed by Lord Hanuman. he’s also called as Ekadash Rudra. Hanuman is virtuous, strong and infallible in his physical, mental and oratorical skills. As per the Padma Purana anyone who wears the 11 Mukhi is understood to be abundantly blessed all the virtues of Lord Hanuman. He would gain negotiation skills, self-confidence, intelligence, physical strength and a strong mind. This divine bead features a unique power to regulate the physical senses. It makes the wearer fearless and is very recommend during meditation and also to inculcate single minded devotion to God. Lord Indra also blesses this Rudraksha. This bead brings good luck, luck , man-management skills and power to realize absolute control over senses. The eleven Rudras reside within the 11 facets of this bead.
Lord Rama was an Avatar of Lord Vishnu who took on this type to slay Ravana and grant him salvation. Since Lord Brahma had blessed Ravana, Lord Rama couldn’t slay his ardent devotee. Lord Hanuman a Ansh Avatar of Lord Shiva, is completely dedicated to Lord Rama. Lord Rama was aided by him find Mata Sita who was abducted by Ravana. He set Lanka ablaze together with his tail to harass the Asuras. He helped Rama fight the terrible war against Ravana. He even procured the Sanjeevini herb to resurrect Lakshmana who was injured by Indrajeet’s deadly weapons. Throughout the Ramayana his strength, intelligence and absolute devotion to Lord Rama shone through. He derived his strength from his love and devotion to Rama and was the nemesis of each evil force.

Even merely meditating on Lord Hanuman is claimed to spice up strength, self-confidence and courage. this is often truth essence of the divine energy that rules the 11 Mukhi Rudraksha. This bead controls the malefic effects of the earth Mars. it’s worn individually round the neck. Ancient scriptures advised people to wear it on the Shikha (tuft of hair on top of the head) to energise the Sahasrara / Crown Chakra. it’s also worn with the 9 and 10 Mukhi Rudraksha within the power combination for cover .

The 11 Mukhi Rudraksha is that the natural representative of the resourceful Lord Hanuman. it’s believed that the wearer of this bead becomes like Lord Shiva. The soul gets liberation from the cycle of birth and death once this bead is worn. This bead displays high potent energy that helps in improving networking skills. Tie ups and human resource management skills also receive an upward boost. It improves self-confidence. It bestows supreme physical and mental strength. it’s a traveller’s essential because it protects during journeys.

Presiding Deity: Lord Hanuman

Ruling Planet: Mars

Beej Mantra: Om Hreem Hum Namah:

General Benefits: This bead is extremely effective in aiding the method of deciding . it’s also helpful for brief tempered individuals for anger management. It improves man management and networking skills. A person’s self-confidence, mental and physical strength receives an incredible boost. It gives protection during journeys. It enhances vocabulary thereby inducing powerful speech. The concentration of the wearer improves. Thus wearing this Rudraksha makes the wearer experience tremendous self-esteem bestowing him with courage and fearlessness. The Hanuman Kavach may be a highly preferred product due to its material and metaphysical benefits.

Spiritual Benefits: This bead is an important for people that wish to be steadfast, still and calm while practicing yoga or meditation. Ancient scriptures advised wearing this bead on the Shikha. This practice helps in attracting and moving the Kundalini Shakti from the Mooladhara chakra. This energy is attracted upward towards the Crown / Sahasrara Chakra thereby evoking supra-consciousness.

Health Benefits: This bead considerably reenergizes the whole system , muscles and nerves. It induces optimum levels of blood flow evenly throughout the body. It boosts energy levels and wards away off lethargy. Activity and energy replace laziness.

यह रुद्राक्ष भगवान हनुमान का प्रतिनिधित्व करता है। इसे पहनने से व्यक्ति शिव जैसा हो जाता है और बाद में जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्त हो जाता है।

11 मुखी रुद्राक्ष भगवान हनुमान का आशीर्वाद है। उन्हें एकादश रुद्र भी कहा जाता है। हनुमान अपने शारीरिक, मानसिक और शारीरिक कौशल में गुणी, मजबूत और अचूक हैं। पद्म पुराण के अनुसार, 11 मुखी पहनने वाले को भगवान हनुमान के सभी गुणों को बहुतायत से धन्य माना जाता है। वह बातचीत कौशल, आत्मविश्वास, बुद्धिमत्ता, शारीरिक शक्ति और तेज दिमाग हासिल करेगा। यह दिव्य मनका भौतिक इंद्रियों को विनियमित करने की एक अद्वितीय शक्ति प्रदान करता है। यह पहनने वाले को निडर बनाता है और ध्यान के दौरान बहुत सलाह देता है और साथ ही ईश्वर के प्रति एकनिष्ठ भक्ति को भी विकसित करता है। भगवान इंद्र भी इस रुद्राक्ष को आशीर्वाद देते हैं। यह मनका सौभाग्य, भाग्य, मानव-प्रबंधन कौशल और इंद्रियों पर पूर्ण नियंत्रण का एहसास करने की शक्ति लाता है। इस मनके के 11 पहलुओं के भीतर ग्यारह रुद्र रहते हैं।
भगवान राम भगवान विष्णु के अवतार थे जिन्होंने रावण का वध करने और उसे मोक्ष प्रदान करने के लिए इस प्रकार का अवतार लिया था। चूंकि भगवान ब्रह्मा ने रावण को आशीर्वाद दिया था, इसलिए भगवान राम अपने भक्त को मार नहीं सकते थे। भगवान हनुमान, भगवान शिव के एक अवतार हैं, जो पूरी तरह से भगवान राम को समर्पित हैं। भगवान राम ने माता सीता को रावण द्वारा अपहरण कर लिया गया था। उसने असुरों को परेशान करने के लिए अपनी पूंछ से लंका को एक साथ खड़ा कर दिया। उन्होंने रावण के खिलाफ भयानक युद्ध लड़ने में राम की मदद की। यहां तक ​​कि उन्होंने इंद्रजीत के घातक हथियारों से घायल लक्ष्मण को जीवित करने के लिए संजीवनी जड़ी बूटी की खरीद की। रामायण के दौरान उनकी शक्ति, बुद्धिमत्ता और भगवान राम के प्रति पूर्ण श्रद्धा थी। उन्होंने अपने प्यार और भक्ति से राम तक अपनी ताकत हासिल की और प्रत्येक बुरी ताकत की दासता थी।

यहां तक ​​कि केवल भगवान हनुमान का ध्यान करने से शक्ति, आत्मविश्वास और साहस का मसाला लगाने का दावा किया जाता है। यह अक्सर दिव्य ऊर्जा का सत्य सार है जो 11 मुखी रुद्राक्ष को नियंत्रित करता है। यह मनका पृथ्वी के मंगल के प्रभाव को नियंत्रित करता है। यह गले में व्यक्तिगत रूप से पहना जाता है। प्राचीन धर्मग्रंथों ने लोगों को शिखा (सिर के ऊपर के बालों का गुच्छा) सहस्रार / मुकुट चक्र को उभारने के लिए पहनने की सलाह दी। यह कवर के लिए शक्ति संयोजन के भीतर 9 और 10 मुखी रुद्राक्ष के साथ भी पहना जाता है।

11 मुखी रुद्राक्ष संसाधन हनुमान के प्राकृतिक प्रतिनिधि हैं। यह माना जाता है कि इस मनके को पहनने वाला भगवान शिव की तरह बन जाता है। इस मनके के पहनने से आत्मा को जन्म और मृत्यु के चक्र से मुक्ति मिल जाती है। यह मनका उच्च शक्तिशाली ऊर्जा को प्रदर्शित करता है जो नेटवर्किंग कौशल को बेहतर बनाने में मदद करता है। टाई अप और मानव संसाधन प्रबंधन कौशल को भी ऊपर की ओर बढ़ावा मिलता है। यह आत्मविश्वास में सुधार करता है। यह सर्वोच्च शारीरिक और मानसिक शक्ति प्रदान करता है। यह एक यात्री की आवश्यक है क्योंकि यह यात्रा के दौरान सुरक्षा करता है।

पीठासीन देवता: भगवान हनुमान

सत्तारूढ़ ग्रह: मंगल

बीज मंत्र: ओम ह्रीं हम नम:

सामान्य लाभ: निर्णय लेने की विधि तय करने में यह मनका अत्यंत प्रभावी है। यह क्रोध प्रबंधन के लिए संक्षिप्त स्वभाव वाले व्यक्तियों के लिए भी उपयोगी है। यह आदमी प्रबंधन और नेटवर्किंग कौशल में सुधार करता है। एक व्यक्ति के आत्मविश्वास, मानसिक और शारीरिक शक्ति को एक अविश्वसनीय बढ़ावा मिलता है। यह यात्रा के दौरान सुरक्षा देता है। यह शब्दावली को बढ़ाता है जिससे शक्तिशाली भाषण उत्पन्न होता है। पहनने वाले की एकाग्रता में सुधार होता है। इस प्रकार इस रुद्राक्ष को पहनने से पहनने वाले को आत्म-सम्मान का अनुभव होता है जो उसे साहस और निडरता के साथ प्रदान करता है। हनुमान कवच अपनी सामग्री और आध्यात्मिक लाभों के कारण एक अत्यधिक पसंदीदा उत्पाद हो सकता है।

आध्यात्मिक लाभ: यह मनका उन लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण है जो योग या ध्यान का अभ्यास करते हुए स्थिर, स्थिर और शांत रहना चाहते हैं। प्राचीन शास्त्रों ने इस मनके को शिखा पर पहनने की सलाह दी। यह अभ्यास मूलाधार चक्र से कुंडलिनी शक्ति को आकर्षित करने और आगे बढ़ने में मदद करता है। यह ऊर्जा क्राउन / सहस्रार चक्र की ओर ऊपर की ओर आकर्षित होती है जिससे अलौकिक चेतना विकसित होती है।

स्वास्थ्य लाभ: यह मनका पूरी प्रणाली, मांसपेशियों और तंत्रिकाओं को पुन: उत्पन्न करता है। यह पूरे शरीर में समान रूप से रक्त प्रवाह के इष्टतम स्तर को प्रेरित करता है। यह ऊर्जा के स्तर को बढ़ाता है और सुस्ती को दूर करता है। गतिविधि और ऊर्जा आलस्य को प्रतिस्थापित करती है।

Payment & Security

Airtel Money American Express Freecharge Mastercard MobiKwik Ola Money PayPal Paytm PayZapp RuPay Visa

Your payment information is processed securely. We do not store credit card details nor have access to your credit card information.

You may also like

Recently viewed